C Data types



इस लेक्चर में हम integer, float और character डाटा टाइप्स के बारे में स्टडी करेगे | Derived डाटा टाइप्स के बारे में आने वाले lectures में स्टडी करेगे |

c programming में मेमोरी या वेरिएबल को बनाने या उपयोग करने से पहले हमें कम्पाइलर को बताना पड़ता है की मेमोरी या वेरिएबल किस तरह की होगी | 

मेमोरी टाइप्स कई तरह के होते है जिन्हें डाटा टाइप्स कहा जाता है |

Integer डाटा टाइप्स :-

यदि mathematics में बात करा तो integer मतलब whole नम्बर जो की negative भी हो सकते है और positive नम्बर भी हो सकते है | 

उदाहरण के लिए 0,2,-4,5 integer नम्बर है |

इनमे दसमलव (Decimal) वाले नम्बर नही आते |

जब हमें इस तरह के नम्बर को स्टोर करने के लिए मेमोरी बनानी पड़े तो हम उस मेमोरी को 

integer डाटा टाइप declare करते है |

integer मेमोरी बनाने के लिए इस तरह से प्रोग्राम करना पड़ता है –

int age ;

इधर age एक वेरिएबल (memory) है जो की integer टाइप का है |

























float डाटा टाइप्स :-
float टाइप नम्बर में रियल नंबर (decimal, दसमलव ) वाले नम्बर आते है जो की negative भी हो सकते है और positive नम्बर भी हो सकते है |

जैसे की 1.0, -2.3, 5.6 etc.

float नम्बर के लिए वेरिएबल (memory) बनाने में float डाटा टाइप का उपयोग होता है |

float salary;

























character डाटा टाइप :-
character डाटा टाइप का उपयोग character के लिए वेरिएबल (memory) बनाने के लिए किया जाता है | 

यहाँ character से मतलब है ‘a’, ‘c’, ‘1’ etc.

character वेरिएबल बनाने के लिए char डाटा टाइप का उपयोग किया जाता है |

char gender = ‘ m ’ ;






















Q. Addition of 2 numbers.





OUTPUT:
a+b= 10
a+b= 10


Q. Addition of two numbers asking inputs from user side.
















OUTPUT:





Related topics

Please use contact page in this website if you find anything incorrect or you want to share more information about the topic discussed above.